पूर्णिया : घर में घुस कर बना रहा था वीडियो,वजह पुछा तो पिस्टल लहरा कहा-'हम टाइगर मोबाइल हैं 'एसपी दयाशंकर ने दिए जांच का आदेश

पूर्णिया: जब रक्षक ही भक्षक बन जाये तो लोग अपनी सुरक्षा के लिए जाये तो जाये कहां।ऐसा ही मामला पूर्णिया शहर के  म धुबनी टीओपी थाना क्षेत्र में सामने आया है।इस टीओपी के टाइगर मोबाइल का एक जवान सादे लिवास में सिपाही टोला चुनापूर रोड शक्तिनगर के रहने वाले मुकेश शर्मा व भूपेन्द्र शर्मा के घर का वीडियो बनाने लगा।टाइगर मोबाइल के जवान के इस हरकत से लोग हैरत में है।

पिस्टल लहरा कर दिखाया पुलिसिया रौब 

टाइगर मोबाइल के इस हरकत पर जब घर वालों ने परिचय पूछा तो पुलिसिया रौब दिखाते हुए टाइगर मोबाइल ने कमर में बंधी पिस्टल दिखाई और कहा कि हमें मधुबनी टीओपी से पदाधिकारी ने भेजा है। इस टाइगर मोबाइल का नाम विश्वनाथ कुमार बताया जा रहा है। इससे पहले मधुबनी टीओपी के ही एसआई अंजनी सिंह पर डरा-धमका कर 5 हजार रुपए लेने व 30 हजार रुपए डिमांड की बात भी सामने आ चुकी है।

आईजी व एसपी से की शिकायत 

एसआई अंजनी सिंह किसी टाइगर मोबाइल को किसी के घर पर भेजने से साफ इन्कार किया है। पुलिस की इस हरकत को लेकर सिपाही टोला के मुकेश व भूपेन्द्र ने आईजी व एसपी आवेदन देकर मामले की जांच की मांग की है। पीड़ित ने बताया कि 13 जून को लगभग 10 बजे दिन में टाइगर मोबाइल जवान सादे लिबास में आा था और मेरे घर वीडियो बनाने लगा। जब मैंने उनका परिचय पूछा तो पिस्टल दिखाने लगे। मधुबनी टीओपी प्रभारी नगीना कुमार ने बताया कि मैंने किसी को नहीं भेजा है।


चूनापुर रोड के मुकेश आदि पर किसी प्रकार का कोई मामला नहीं है। मधुबनी टीओपी पुलिस का टाइगर मोबाइल जवान विश्वनाथ वहां का कुछ वीडियो दिखा रहा था। टाइगर मोबाइल विश्वनाथ कुमार ने बताया कि हम डराने-धमकाने नहीं गए थे। वहां से गड्ढे से मिट्टी कटाई की सूचना मिली थी। उसी को देखने गए तो वे लोग पूछने लगे कि आप कौन है। इस पर हमने पिस्टल दिखाते हए कहा कि पुलिस है कोई चोर-उचक्का नहीं।

एसआई के खिलाफ डीजीपी को भेजा आवेदन

पीड़ित भूपेन्द्र शर्मा ने बताया कि मधुबनी टीओपी में पदस्थापित एसआई अंजनी सिंह उनके मोहल्ले में ही एक भाड़े के घर में रहते हैं।


किसे ने उन्हें बता दिया कि सरकार द्वारा जमीन मुआवजे के एवज में मुझे बड़ी राशि दी गई है। इसी कारण वह डरा-धमका कर रुपए ऐंठना चाहते हैं। उक्त एसआई एक माह पहले मेरे भाई मुकेश शर्मा को जबरन थाने की गाड़ी पर बैठाने लगा। काफी आरजू-विनती के बाद उसे छोड़ा और कहा कि तुम थाने आना। मधुबनी टीओपी जाने पर वहां अंजनी ने 30 हजार रुपए की मांग की। मेरे भाई ने उन्हें तत्काल पांच हजार रुपए दे दिया और बाद में देने की बात कही। कुछ दिन बाद फिर अंजनी सिंह ने मेरे भाई से मोबाइल पर बाकी पैसे की मांग की,जिसकी रिकार्डिंग भी मेरे पास है।

एसपी दयाशंकर ने दिए जांच का आदेश

सिपाही टोला के एक व्यक्ति ने आवेदन देकर मधुबनी टीओपी पुलिस पर डरा-धमका कर रुपए ऐंठने की शिकायत की है। सदर डीएसपी को इसकी जांच दी गई है। जांच रिपोर्ट आने के बाद अगर आरोप सत्य पाए जाएंगे तो संबंधित पुलिस कर्मियों पर कार्रवाई की जाएगी। 

दयाशंकर, एसपी,पूर्णिया 

  


Related Articles

Post a comment