पूर्णिया किशनगंज पुलिस की संयुक्त टीम पर किया हमला, बनाया बंधक

पूर्णिया : शहर के माधोपाड़ा में एक मामले को ले कार्रवाई करने पहुंची पूर्णिया किशनगंज पुलिस की संयुक्त टीम पर हमला कर पुलिस कर्मियों को बंधक बना लिए जाने का मामला प्रकाश में आया। इस हमले में 3 महिला पुलिस कर्मी बुरी तरह चोटिल हो गईं। घटना के बाद पूरे इलाके को पुलिस छावनी में तब्दील कर दिया गया है। इस संबंध में एसपी दयाशंकर ने बताया कि किशनगंज की पुलिस टीम छापेमारी के लिए पूर्णिया आई थी। उनके साथ भीड़ अभद्र व्यवहार करते हुए झड़प पर उतारू हो गई। घटना की प्राथमिकी स्थानीय थाना में दर्ज की गई है। सहायक खजांची थानाध्यक्ष संजय कुमार सिंह ने बताया कि किशनगंज के कोचाधामन की महिला गुल आफसा ने महिला थाना किशनगंज में अपने पति के खिलाफ कांड संख्या 27/21 दर्ज कराया है। इसमें उसका आरोप है कि उसके पति ने उसके साथ मारपीट कर बच्चे को छीन कर पूर्णिया चला गया। इसी बच्चे को मुक्त कराने किशनगंज से महिला थानाध्यक्ष पुष्पलता के नेतृत्व में पुलिस टीम आई थी। जिसे पूर्णिया में सहयोग किया गया था। बता दें कि शनिवार की शाम पुलिस टीम माधोपाड़ा में आरोपी के घर पहुंची थी। शुरुआत में ही घर सर्च करने के सवाल पर आरोपी पक्ष से नोकझोंक हुई। इसके बाद पुलिस टीम घर के अंदर दाखिल हुई। घर सर्च के दौरान जब बच्चा नहीं मिला तो पुलिस घर से बाहर निकलने लगी। इसी दौरान आरोपी पक्ष ने पुलिस के साथ मारपीट शुरू कर दी। मारपीट में 3 महिला पुलिस कर्मी चोटिल हो गई। सभी पुलिस कर्मी को बंधक बना लिया गया। सूचना के बाद सहायक खजांची थानाध्यक्ष संजय कुमार सिंह, केहाट थानाध्यक्ष सह प्रशिक्षु डीएसपी आनंद मोहन गुप्ता, मरंगा थानाध्यक्ष मिथिलेश कुमार दलबल के साथ घटनास्थल पर पहुंचे। जिसके बाद बंधक बनाए गए पुलिस कर्मियों को छुड़ाया गया। पुलिस ने इस कार्रवाई में घर के दो पुरुष समेत एक महिला को गिरफ्तार किया है।

  


Related Articles

Post a comment