कटिहार : पंचायत चुनाव को लेकर भैंस पर सवार होकर मुखिया प्रत्याशी ने दाखिल किया नामांकन पर्चा

 कटिहार -- नवाज़ शरीफ़ की रिपोर्ट

बिहार में पंचायत चुनाव को लेकर सरगर्मी तेज हो गई है चुनावी मौसम में कई नए चेहरे भी चुनाव मैदान में आते हैं लेकिन ताम-झाम और दिखावे की भीड़ में कई नेता गुम हो जाते हैं. इस प्रत्याशी का अंदाज कुछ अलग था, यह ताम-झाम के साथ नहीं बल्कि एक भैंस पर बैठकर अपना नामांकन करने पहुंचा था. दरअसल, कटिहार जिले के हसनगंज प्रखंड के रामपुर पंचायत से आजाद आलम उर्फ गुड्डू भैंस पर सवार होकर पर्चा दाखिल करने नामांकन कार्यालय पहुंचे थे. उम्मीदवार को भैंस पर सवार देख वहां मौजूद लोग अपनी हंसी रोक नहीं पा रहे थे. इन सब से बेफिक्र आजाद आलम अपनी भैंस पर सवार अपने समर्थकों के बीच सड़क पर चलते रहे. आजाद के समर्थक अपने नेता के समर्थन में जिंदाबाद के नारे लगा रहे थे. नारा लगाते आखिरकार आजाद आलम का जुलूस जब नामांकन स्थल पहुंचा तो वहां उपस्थित पुलिस ने उन्हें रोका. इसके बाद वे पैदल नामांकन करने पहुंचे. उन्होंने हसनगंज प्रखंड के रामपुर पंचायत के मुखिया उम्मीदवार के रूप से पर्चा दाखिल किया है. आजाद आलम ने कहा कि वे पेशे से किसान हैं. किसान न सिर्फ गरीब होता है बल्कि किसान के पास मोटर गाड़ी भी नहीं होती है. किसान के पास गाय, बकरी, भैंस ही होते हैं. ऐसे में कोई सवारी नहीं होने के कारण उनके समर्थकों की राय बनी की क्यों नहीं जो भैंस किसानों की पहचान है, उसी की सवारी कर नामांकन दाखिल किया जाए. आज़ाद आलम ने कहा कि किसान, गरीब, दलित सभी लोगों का समर्थन उन्हें प्राप्त है. श्री आलम ने दावा किया है कि चुनाव जीतकर किसानों के हित के लिए काम करेंगे। वही हसनगंज प्रखंड विकास पदाधिकारी रितेश कुमार ने कहा कि यह उनका व्यक्तिगत मामला है आशंका है कि आचार संहिता का पालन करते हुए उम्मीदवार अपनी दावेदारी पेश करें निश्चित तौर पर बिहार में पंचायत चुनाव को लेकर पंचायत स्तर पर प्रत्याशी अपना दमखम लगा रहे हैं गौरतलब है कि कटिहार जिले के 4 प्रखंडों में दूसरे चरण का चुनाव होगा

  


Related Articles

Post a comment