विद्या विहार, पूर्णिया में शुभम के यूपीएससी टॉप करने पर जश्न का माहौल ,किया गया भव्य स्वागत

विद्या विहार के पूर्ववर्ती छात्र शुभम कुमार बने यू पी एस सी के टॉपर 

24 सितम्बर (शुक्रवार) को शाम 7 बजे जब से अपने पूर्ववर्ती छात्र  शुभम कुमार के यू पी एस सी में देश भर में प्रथम स्थान पर आने की खबर विद्या विहार परिसर में पहुंची है तब से संस्थान प्रबंधन, शिक्षक, कर्मचारी , छात्र एवं छात्राओं में जश्न का माहौल है | 

लगातार उत्साहित पूर्ववर्ती छात्रों और अभिभावकों के फ़ोन आ रहे हैं | कल देर रात तक बधाइयाँ देने और लेने का सिलसिला चलता रहा |

आज बच्चों की कक्षा बंद रही ताकि छात्रावास में बच्चे शुभम के व्यक्तित्व और कृतित्व पर चर्चा कर सकें और उससे प्रेरणा ले सकें | 

सुबह 11 बजे सभी शिक्षकों - कर्मचारियों की सभा आयोजित की गयी | उसमें सभी ने शुभम से जुड़े अपने अनुभव साझा किये |  

शुभम के चाचा श्री मणि कुमार सिंह जो संस्थान में अध्ययनरत अपने दो बच्चों को लेने आये हुए थे, इस सभा में मुख्य अतिथि के रूप में शामिल हुए | शुभम के भाई – बहन जो की क्रमशः कक्षा 5 और 7 में अध्ययनरत हैं भी इस सभा में शामिल हुए |

उन्होंने शुभम के विद्या विहार से जुड़े कुछ प्रसंग सबसे साझा किया | उन्होंने बताया कि घर के करीब वाले स्कूल से बेहतर स्कूली शिक्षा की मांग स्वयं शुभम ने की थी | जिसके लिए पहले पटना और फिर विद्या विहार, पूर्णिया के छठी कक्षा में उसका नामांकन कराया गया | विद्या विहार की छठी क्लास की पहली परीक्षा में वह दसवें स्थान पर आया था | फिर धीरे धीरे वह सीढियां चढ़ता हुआ पांचवीं , चौथी फिर प्रथम तीन छात्रों में रहने लगा | वह अपने मेधावी सहपाठियों से स्वस्थ स्पर्धा करता था और अपने में सुधार के लिए हमेशा प्रयासरत रहता था | उसका किसी विषय में परीक्षा उपरांत प्राप्तांक का आकलन आश्चर्यजनक रूप से सटीक होता है | अपनी कमजोरी पहचान कर उसे  दूर करने को वह हमेशा प्रयत्नशील रहता था  | 

शिक्षक श्री गोपाल झा ने इस अवसर पर रोबर्ट फ्रॉस्ट की मूल  कविता और उसके हिंदी अनुवाद का पाठ किया   ....

उप प्रधानाचार्य श्रो निखिल रंजन ने कहा कि शुभम कुमार प्रारंभ से ही बहुत अनुशासनप्रिय तथा सादगी पसंद और मेहनती छात्र रहे हैं | छात्रावास में उनका आचरण सदा ही सराहनीय रहा है | 

प्राचार्य श्री निशिकांत दास गुरु ने इस उपलब्धि के लिए पूर्व प्राचार्य श्रद्धेय के एन वासुदेवन के आशीर्वाद एवं विद्यालय प्रबंधन, निदेशक रणजीत पाल सहित विद्यालय के सभी शिक्षक – शिक्षिकाओं के प्रति आभार प्रकट किया | उन्होंने यह इच्छा जाहिर की कि भविष्य में विद्या विहार ऐसे अनेक विद्यार्थियों की प्रतिभाओं का संवर्धन करता रहेगा |  

निदेशक श्रो रणजीत कुमार पाल ने कहा कि शुभम कुमार ने अपने अपूर्व लगन , मेहनत और प्रतिभा से विद्यालय सहित हम सबका मस्तक गर्व से  ऊंचा कर दिया है | इसके लिए सभी शिक्षक बधाई के पात्र  हैं  |

सचिव श्री  रमेश चन्द्र मिश्र ने इस उपलब्धि के महत्त्व को रेखांकित करते हुए मिल रहे विभिन्न बधाई संदेशो से सबको अवगत कराया  | उन्होंने अपने बचपन के स्कूल नेतरहाट विद्यालय के छात्रों को की यू पी एस सी में मिली उपलब्धियों का जिक्र किया और विद्यालय के प्रगति पर संतोष व्यक्त किया | उन्होंने पूर्ववर्ती सफल छात्र प्रथम बैच के प्रवीण शेखर (आई आर एस ), चतुर्थ बैच के प्रवीण प्रकाश (आई पी एस ) तथा कुमार सत्यम (आई आर एस ), नवं बैच के कुमार आदित्य तथा बारहवीं बैच के  कुमार निशांत विवेक की सफलताओं की भी चर्चा की | बी  पी एस सी आदि अन्य उपलब्धियों पर भी चर्चा हुई | 

अंत में न्यासी श्री राजेश चन्द्र मिश्र ने सभी शिक्षकों – कर्मचारियों का इस उपलब्धि पर धन्यवाद ज्ञापन किया | और इस बड़ी उपलब्धि के समानांतर और बड़ी उपलब्धियों के लिए प्रयासरत रहने का आह्वान किया |

संध्या शुभम कुमार जैसे ही बागडोगरा के रास्ते पूर्णिया पहुँचे  छात्र और छात्राओं के साथ साथ शिक्षकों ने अपने छात्र का भव्य स्वागत किया ,उनके माता  पूनम सिंह और पिता देवानंद सिंह का भी लोगों ने बुके देकर जोरदार स्वागत किया । शुभम कुमार के साथ  भी ही सभी लोगों ने बुके ओर माला पहना कर  बधाई दिया ।  

रात्रि में विद्या विहार संस्थानों यथा विद्या विहार रेसिडेंसियल स्कूल परोरा , पूर्णिया तथा विद्या विहार इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलोजी, मरंगा, पूर्णिया में विशेष भोज का आयोजन हुआ जिसमे सभी छात्र, शिक्षक , कर्मचारी और उनके परिवार के लोग शामिल हुए |

  

Related Articles

Post a comment