किशनगंज एवं बहादुरगंज थाना में हुए लूट की घटना का पुलिस ने किया उद्भेदन।

एसपी ने गठित की थी एसआईटी टीम 10 गिरफ्तार।



शशि कोशी रोक्का/किशनगंज 


किशनगंज बहादुरगंज थाना में हुई लूट की घटना का पुलिस ने किया उद्भेदन एसपी कुमार आशीष के द्वारा गठित एसआईटी टीम ने 10 अपराधियों को किया गिरफ्तार लूट की घटना में लूटी गई राशि, जेवर,बाइक एवं हथियार के साथ गिरफ्तार किया गया।बताते चलें कि मंगलवार 09 तारिख की संध्या करीब 05ः15 में किशनगंज थाना के प्रेम पुल के पास गैस एजेंसी के कर्मचारी से 1.50 लाख रूपये एवं उसी दिन संध्या 06ः30 बजे बहादुरगंज थाना अन्तर्गत बाभनटोली डायभर्सन पर विशनपुर के सोना-चाँदी व्यापारी के साथ हथियार के बल पर अपराधकर्मियों द्वारा करीब 2.50 से 3 किलो ग्राम चाँदी का जेवर लूट की घटना घटित की गई थी। एक ही दिन में लूट की दो बड़ी घटनाओं को पुलिस अधीक्षक, किशनगंज ने चुनौती के रूप में लेते हुए उक्त दोनों घटनाओं के सफल उद्भेदन,गिरफ्तारी एवं बरामदगी हेतु अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी किशनगंज के नेतृत्व में एक SIT का गठन किया गया। उक्त टीम में थानाध्यक्ष किशनगंज,बहादुरगंज, पौआखाली,कोचाधामन,टेढ़ागाछ एवं तकनीकी शाखा के कर्मी शामिल थे।उक्त SIT द्वारा पर्व त्योहारों,पंचायत चुनाव के बावजूद आसूचना संकलन एवं तकनीकी अनुसंधान केे माध्यम से उक्त दोनों घटना में शामिल अपराधकर्मियों तथा लाइनर की पहचान करते हुए सर्वप्रथम पंचायत चुनाव-2021 के पराजित मुखिया प्रत्याशी मो0 मसुद आलम को टेढ़ागाछ से गिरफ्तार किया गया।उसने घटना में अपनी संलिप्तता स्वीकार करते हुए अपने अन्य सहयोगियों तथा लूट की पूरी योजना को विस्तृत रूप से बताया।मसूद आलम की निशानदेही पर लूटी गई राशि,जेवर,मोबाईल एवं घटना में प्रयुक्त बाइक को जप्त किया गया।मसूद की ही निशानदेही पर साबिर,मुस्लिम, राजू कुमार साह,प्रदीप चौधरी, नौशाद उर्फ शीतल एवं रतन कुमार शर्मा को गिरफ्तार करते हुए उनकी निशानदेही पर लूटी गई राशि,जेवर,हथियार,मेाबाईल एवं बाइक जप्त किया गया।बहादुरगंज की घटना में दो गिरोहों ने लाइनर के सहारे पिछले 15 दिनों से व्यापारी की रेकी की जा रही थी।तदोपरांत दोनों गिरोहों में शामिल अपराधकर्मियों द्वारा डायभर्सन के पास के दोनों मार्गों को अवरूद्ध करते हुए घटना को अंजाम देकर पुनः टेढ़ागाछ होते हुए अररिया की ओर फरार हो गये।बहादुरगंज थाना कांड सं0-298/21 के वादी सुशील कुमार अग्रवाल के द्वारा बताया गया कि घबराहट में लूटी गई चाँदी के जेवरात 200 भर प्राथमिकी में अंकित किये थे जबकि वास्तव में करीब 5 किलो ग्राम चाँदी के जेवरात लूटी गई थी।छापेमारी के क्रम में विकास कुमार साह को टेढ़ागाछ से पकड़ा गया।पूछताछ के क्रम में किशनगंज स्थित गैस एजेंसी के कर्मी से लूट की घटना में अपनी संलिप्तता स्वीकार करते हुए अपने अन्य दो सहयोगियों के बारे में बताते हुए बताये कि उक्त घटना को अंजाम देने हेतु पिछले दस दिनों से हलीम चौक आकर रेकी करते थे।इनकी निशानदेही पर मो0 अफाक को गिरफ्तार किया गया।इन दोनों के पास से लूटी गई राशि में से 26,300 रूपया बरामद किया गया। एसआईटी टीम के द्वारा गिरफ्तार 10 अपराधियों में से 5 अपराधी अररिया जिला के रहने वाले हैं और 5 अपराधी किशनगंज जिले के टेढ़ागाछ का रहने वाला है।उक्त दोनों घटना के संबंध में किशनगंज थाना कांड सं0-557/21 एवं बहादुरगंज थाना कांड सं0-298/21 दर्ज किया गया है।चाँदी लूट की घटना में सौ फीसदी चाँदी के जेवरात को बरामद किया गया।पुलिस अधीक्षक द्वारा गठित एसआईटी टीम में शामिल किशनगंज अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी अनवर जावेद अंसारी,पुलिस निरीक्षक बहादुरगंज अंचल अमर प्रसाद,सतीश कु हिमांशु पु०नि०सह थाना अध्यक्ष किशनगंज,संजय कुमार थानाध्यक्ष बहादुरगंज,तरुण कुमार तरूणेश थाना अध्यक्ष टेढ़ागाछ,इकबाल अहमद खां थाना अध्यक्ष पौआखाली,सुमन कु०सिंह थानाध्यक्ष कोचाधामन, संजय कु०यादव स०अ०नि० पौआखाली थाना एवं प्रमोद कुमार सुमित कुमार दोनों तकनीकी शाखा किशनगंज इत्यादि पुलिस कर्मी शामिल थे। इस कांड के सफल उद्भेदन हेतु पुलिस अधीक्षक कुमार आशीष के द्वारा एसआईटी टीम को पुरस्कृत करते हुए पुलिस मुख्यालय पटना को भी पुरस्कृत करने हेतु अनुशंसा की जाएगी।

  

Related Articles

Post a comment