पटना की फटाफट खबरें एक नज़र में।

70 लीटर देशी शराब के साथ पांच पियक्कड़ को गिरफ्तार किया


पटना :अनुमंडल के भगवांगज थाना क्षेत्र के पुलिस ने 35 लीटर देशी शराब के साथ एक तस्कर को गिरफ्तार किया है। सोमवार को भगवांगज पुलिस को मुखबिर की सूचना मिली की एक व्यक्ति गुलालचक गांव से लेकर तस्करी करने के लिए जा रहा है।पुलिस हरकत में आई।और उक्त तस्कर को देवरिया मोड़ के पास35लीटर शराब के साथ गिरफ्तार कर लिया।भगवांगज थाना अध्यक्ष सतेंद्र कुमार ने बताया कि उक्त कारोबारी दुल्हिन बाजार थाना क्षेत्र के बड़की खैरवा गांव निवासी गणपत दास बातया जाता है।मंगलवार को उसे मध्य निषेध अधिनियम के तहत मुकदमा कर उसे जेल भेज दिया गया।वही मसौढ़ी पुलिस ने विभिन्न स्थानों पर जांच अभियान के दौरान शराब पीकर घूमने के आरोप में पांच लोगों को गिरफ्तार कर लिया।एनेलाइजर मशीन से श्वास विश्लेषण करने पर शराब पीने की पुष्टि हुई. गिरफ्तार लोगों को मंगलवार को जेल भेज दिया गया। जानकारी के अनुसार मसौढ़ी थाने की पुलिस ने नगर के विभिन्न स्थानों  पर विशेष छापेमारी अभियान के दौरान चार लोगों को शराब के नशे में पकड़ा।।


बाकी वाला पैसा मांगने पर मारपीट कर किया गंभीर रूप से जख़्मी।।


पटना नौबतपुर थाना क्षेत्र के सरासत गांव में बकाया पैसा मांगने को लेकर उपेंद्र सिंह को उनके पड़ोसी अरविंद सिंह ने उपेंद्र सिंह को घर में घुसकर लाठी-डंडे से मार पिटकर कर घायल कर दिया है। बता दें कि घटना सोमवार क़ो देर रात कि है। वही इस दौरान अरविंद सिंह का सिर फट गया और बुरी तरह से जख्मी हो गए है। वही स्थानीय रेफरल अस्पताल से प्राथमिक उपचार के बाद चिकित्सक़ो ने उपेंद्र सिंह को पीएमसीएच रेफर कर दिया है। जहां उसकी हालत बेहद गंभीर बनी हुई है। वही इस मामले में अरविंद सिंह ने अपने पड़ोसी उपेंद्र सिंह, उनके बेटा मोहन कुमार उर्फ शिवम, बेटी सुहानी कुमारी और पत्नी पुनम कुमारी के खिलाफ स्थानीय थाना में केस दर्ज कराया है। वही नौबतपुर थानाध्यक्ष रफिकुर रहमान ने बताया है कि फिलहाल मामले की छानबीन की जा रही है।

 ट्रैन के महिला बोगी में 16 लोगों से वसूला गया जुर्माना।।


पटना : महिला बोगी में यात्रा करने वालो की अब खैर नही। दानापुर के पूरे मंडल में आरपीएफ द्वारा ट्रेन मे महिला बोगी में यात्रा करने वालो के खिलाफ अभियान चलाया जा रहा है। मंगलवार को दानापुर पोस्ट द्वारा महिला बोगी में सफर कर रहे हैं 16 व्यक्तियों को गिरफ्तार कर रेलवे मजिस्ट्रेट के समक्ष पेश किया गया। जहाँ गिरफ्तार सभी व्यक्तियों से जुर्माना लेकर कर छोड़ दिया गया। गौरतलब है कि रेल मदद सहायता केंद्र पर सर्वाधिक शिकायते महिला बागी में यात्रा से संबंधित होती है।इसलिए महिलाओं के सम्मान स्वरूप यह अभियान चलाया जा रहा है। इस संबंध मे दानापुर आरपीएफ प्रभारी वेंकटेश कुमार ने लोगों से अपील किया है कि महिलाओं एवं दिव्यांगों के लिए आरक्षित डब्बो में यात्रा न करे। अन्यथा दंड के भागी होंगे।।


 

निम्नवर्गीय लिपिक के पद पर नियुक्ति हेतु शैक्षणिक प्रमाण पत्र / कागजात जाँच के संबंध में सूचना



१. सामान्य प्रशासन विभाग, बिहार द्वारा *प्रथम इन्टर स्तरीय संयुक्त प्रतियोगिता परीक्षा,2014* के आधार पर पटना जिला हेतु कुल *114 (एक सौ चौदह)* निम्नवर्गीय लिपिक (समाहरणालय) के पद पर *अनुशंसित* सफल अभ्यर्थियों की सूची उपलब्ध कराई गई है।


२. उक्त के परिप्रेक्ष्य में सभी सफल अभ्यर्थियों को निदेश दिया जाता है कि वे सभी संबंधित शैक्षणिक प्रमाण पत्र / कागजातों के साथ *दिनांक 01.09.2022 (गुरूवार)* को पूर्वाह्न 11.00 बजे पटना समाहरणालय, पटना, हिन्दी भवन, छज्जूबाग के परिसर भू-तल स्थित ऑडिटोरियम हॉल में ससमय उपस्थित होना सुनिश्चित करेंगे ताकि उनके सभी वांछित कागजातों का सत्यापन किया जा सके। 


३. जो अभ्यर्थी दिनांक 01.09.2022 को किसी वैध कारणवश उपस्थित नहीं हो पायेंगे वे अभ्यर्थी विशेष परिस्थिति में सभी वांछित कागजातों के सत्यापन के लिए जिला स्थापना शाखा, हिन्दी भवन, छज्जूबाग पटना समाहरणालय पटना में दिनांक 05.09.2022 तक निश्चित रूप से उपस्थित होना सुनिश्चित करेंगे।


४. *आवश्यक शैक्षणिक प्रमाणपत्रों/ कागजातों की सूची* :


1. पहचान पत्र मूल के साथ छायाप्रति (आधार कार्ड / पैन कार्ड / पासपोर्ट)


2 शैक्षणिक प्रमाण पत्रों की मूल प्रति के साथ छायाप्रति (मैट्रिक / इंटर)


3. आवासीय प्रमाण पत्र की मूल प्रति के साथ छायाप्रति


4. जाति प्रमाण पत्र / क्रीमिलेयर रहित प्रमाण पत्र की छाया प्रति


5. सभी प्रमाण-पत्र सही है तथा गलत पाए जाने पर उनकी नियुक्ति रद्द कर दी जाएगी से संबंधित शपथ पत्र


6. असैनिक शल्य चिकित्सक-सह- मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी, पटना द्वारा निर्गत स्वास्थ्य प्रमाण पत्र मूल में


7. विवाह में दहेज नहीं लेने एवं देने से संबंधित शपथ पत्र मूल में


8. न्यायालय में किसी भी प्रकार का मुकदमा लबित नहीं रहने का शपथ पत्र मूल में


9. चरित्र प्रमाण पत्र


10. तीन पासपोर्ट साईज फोटो


11. पूर्व में नियोजित / पदस्थापित कार्यालय से निर्गत अनापति प्रमाण पत्र की छायाप्रति । 


५. यह अनुशंसा माननीय उच्च न्यायालय, पटना में दायर एलपीए संख्या-276 / 2020 में पारित होने वाले आदेश के फलाफल से प्रभावित होगी।

[30/08, 8:00 pm] Deepak Press Patna: गंगा नदी के जल स्तर में अप्रत्याशित वृद्धि को देखते हुए जिला प्रशासन पूर्णतः सजग एवं सतर्क है। जिला पदाधिकारी, पटना डॉ. चंद्रशेखर सिंह के निर्देश पर पदाधिकारियों द्वारा लगातार क्षेत्र भ्रमण किया जा रहा है। *सभी एजेंसियों को अलर्ट कर दिया गया है।* स्थिति पर प्रशासन की *पैनी नजर* है। *आम जनता को कोई असुविधा नहीं होने दी जाएगी।* 


डीएम के निर्देश पर आज अंचलाधिकारी, पटना सदर द्वारा सदर अंचल में बिंद टोली, कुर्जी एवं अन्य क्षेत्र का जायजा लिया गया। अंचलाधिकारी, दानापुर द्वारा कासिम चक एवं दानापुर दियारा इलाके का भ्रमण किया गया। भूमि सुधार उप समाहर्ता, दानापुर द्वारा  मनेर का जायजा लिया गया। 


सभी वरीय पदाधिकारी एवं क्षेत्रीय पदाधिकारी बाढ़ संभावित क्षेत्रों में *निरंतर भ्रमणशील* हैं।


 कुछ पंचायतों के निचले हिस्से में नदी का पानी आया हुआ है। कहीं कहीं गंगा नदी का पानी सड़क के किनारे आ गया है। 


*गंगा नदी का वर्तमान में औसत जलस्तर उच्चतम जलस्तर से लगभग 1.5 से 2 मीटर नीचे है।*  मनेर में उच्चतम जलस्तर 53.79 मीटर है जबकि आज संध्या 6:00 बजे यहां जलस्तर 51.94 मीटर रिकॉर्ड किया गया। दीघा घाट में उच्चतम जलस्तर 52.52 मीटर है जबकि आज संध्या 6:00 बजे यहां का जलस्तर 50.09 मीटर था। गांधी घाट में उच्चतम जलस्तर 50.52 मीटर जबकि आज 6:00 बजे संध्या में यहां का जलस्तर 48.91 मीटर दर्ज किया गया।


केंद्रीय जल आयोग के अनुसार अभी दो दिनों तक गंगा का जलस्तर बढ़ने की संभावना है। परंतु परेशान होने की कोई बात नहीं है। *बाढ़ संभावित क्षेत्रों की सतत निगरानी की जा रही है।  प्रशासन पूर्णतः मुस्तैद है।* 


डीएम डॉ सिंह ने कहा कि नागरिकों को परेशान होने की कोई आवश्यकता नहीं है। *आपदा प्रबंधन तंत्र पूर्णतः सक्रिय एवं तत्पर है।*

  

Related Articles

Post a comment