शेयर बाजार में ऐसे नहीं आया इतना बड़ा उछाल, 1 माह में सरकार ने उठाए ये 10 बड़े कदम

नई दिल्ली [जागरण स्पेशल]। एक तरफ अमेरिका सहित पूरी दुनिया, मंदी की आहट से परेशान है। वहीं भारत न केवल वैश्विम मंदी को मात दे रहा है, बल्कि देश की जनता को राहत प्रदान करने के लिए सरकार लगातार आर्थिक सुधार की दिशा में महत्वपूर्ण घोषणाएं कर रही है। इसका असर शुक्रवार को शेयर बाजार में भी देखने को मिला। आइये जानतें हैं- वैश्विक मंदी से बचने के लिए सरकार ने कौन से 10 बड़े कदम उठाए हैं और इनका आप पर किस तरह से पड़ेगा असर?

मंदी को मात देने के 10 बड़े फैसले...

1. सरकारी बैंकों का मेगा मर्जर

30 अगस्त 2019 को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने 10 सरकारी बैंकों के मेगा मर्जर (विलय) की घोषणा की थी। 10 बैंकों का विलय कर चार बैंक बनाए गए हैं। पंजाब नेशनल बैंक (PNB), ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स (OBC) और यूनाइटेड बैंक का एक में विलय कर इसे देश का तीसरा सबसे बड़ा बैंक बनाया गया है। इसका बिजनेस 17.95 लाख करोड़ रुपये होगा। यूनियन बैंक ऑफ इंडिया, आंध्रा बैंक और कॉर्पोरेशन बैंक को एक में मिलाकर देश का पांचवां सबसे बड़ा बैंक बनाया गया है। इसका बिजनेस 14.59 लाख करोड़ रुपये होगा। इंडियन बैंक और इलाहाबाद बैंक का विलय कर देश का सातवां सबसे बड़ा बैंक बनाया गया है। इसका बिजनेस 8.08 लाख करोड़ रुपये होगा। केनार बैंक और सिंडिकेट बैंक का विलय कर इसे देश का चौथा सबसे बड़ा बैंक बनाया गया है। इसका बिजनेस 15.20 लाख करोड़ रुपये होगा।

  


Related Articles

Post a comment